Bhutiya Kahani

Bhutiya Kahani

अगर आपको Bhutiya Kahani डरावनी कहानियां पसंद हैं, तो यह वेब पेज आपके लिए है। यहां पर आपको भूतों और चुड़ैलों की अनेक कहानियां मिलेंगी, जो आपको रोमांचित और मनोरंजित करेंगी। Bhutiya Kahani कहानियों को पढ़कर आप अपने डर का सामना कर सकते हैं, और अपने दोस्तों और परिवार के साथ शेयर कर सकते हैं। तो अब देर किस बात की, जल्दी से इस आर्टिकल को खोलें, और भूतिया कहानियों का आनंद लें।

यह कहानी है एक लड़के की, जिसका नाम था राहुल। राहुल एक छात्र था, जो अपने दोस्तों के साथ एक हॉस्टल में रहता था। राहुल को भूतों और चुड़ैलों पर विश्वास नहीं था। वह उन्हें बकवास समझता था। उसके दोस्त उसका मजाक उड़ाते थे, और कहते थे कि वह डरपोक है।

Bhutiya Kahani

एक दिन, राहुल के दोस्तों ने उससे एक शर्त लगाई। उन्होंने कहा कि अगर वह रात को अकेला एक भूतिया हवेली में जाकर वापस आ सकता है, तो वे उसे एक हजार रुपये देंगे। राहुल ने शर्त मान ली, और अपने दोस्तों के साथ रात को उस हवेली की तरफ निकल पड़ा।

वह हवेली शहर से दूर एक सुनसान जगह पर थी। उसके बारे में लोगों का कहना था कि वहां पर एक चुड़ैल का भूत रहता है, जो रात को आता है, और लोगों को मार डालता है। राहुल को इस बात पर विश्वास नहीं था, और वह अपने दोस्तों को यह साबित करना चाहता था कि वह डरने वाला नहीं है।

राहुल और उसके दोस्त हवेली के सामने पहुंचे। वहां पर अंधेरा था, और चुपचापी थी। राहुल के दोस्तों ने उसे चुनौती दी, कि वह हवेली के अंदर जाए, और वहां से कोई चीज लेकर आए, जिससे पता चले कि वह वहां गया था। राहुल ने हिम्मत करके हवेली के दरवाजे को खोला, और अंदर चला गया।

राहुल को अंदर जाते ही एक अजीब सी ठंडक महसूस हुई। वह अपने मोबाइल की फ्लैश लाइट चालू करके आसपास देखने लगा। वहां पर बहुत सारी चीजें बिखरी हुई थीं, जैसे कि टूटे हुए फर्नीचर, फटे हुए कपड़े, और धूल से भरे हुए बर्तन। राहुल ने सोचा कि वह कोई ऐसी चीज ले जाए, जो उसे आसानी से मिल जाए, और वह जल्दी से वापस आ जाए।

राहुल ने एक टेबल पर एक चाकू देखा, जो जंग से लदा हुआ था। वह उसे उठाने के लिए आगे बढ़ा, लेकिन उसी वक्त उसने एक आवाज सुनी, जो उसे रोक दी।

“कौन है तू? यहां क्या कर रहा है?” आवाज थी एक औरत की, जो बहुत ही भयानक और कर्कश थी। राहुल ने आवाज की तरफ देखा, और उसे एक ऐसा दृश्य दिखाई दिया, जो उसे हिला कर रख दिया।

वहां पर एक औरत खड़ी थी, जिसका चेहरा बहुत ही भयानक था। उसकी आंखें लाल थीं, और उसके मुंह से खून बह रहा था। उसके बाल बिखरे हुए थे, और उसके कपड़े फटे हुए थे। वह राहुल को गूर से देख रही थी, और उसकी तरफ आ रही है है

Bhutiya Kahani

फिर तो राहुल का भाग्य खराब था। वह उस चुड़ैल से भागने की कोशिश करने लगा, लेकिन उसे कोई रास्ता नहीं मिला। वह हवेली के हर कमरे में घूमता रहा, लेकिन हर जगह पर वह उस चुड़ैल को ही देखता था। वह उसके पीछे पड़ गई थी, और उसे मारने की ठानी थी।

राहुल ने आखिरी उम्मीद के तौर पर हवेली के छत पर जाने का फैसला किया। वह सोचा कि शायद वहां से उसे कोई मदद मिल जाएगी। लेकिन जब वह छत पर पहुंचा, तो उसे एक और झटका लगा। वहां पर उसके दोस्तों के लाशें पड़ी हुई थीं, जिन पर चुड़ैल ने अपना कहर ढाया था। राहुल को देखते ही वह चुड़ैल उसकी तरफ दौड़ी, और उसे पकड़ कर नीचे फेंक दिया।

Bhutiya Kahani

राहुल की चीख सुनकर आसपास के लोग भागकर आए, लेकिन उन्हें उसकी मदद करने का कोई मौका नहीं मिला। राहुल की मौत हो गई, और उसकी आत्मा भी उस हवेली में फंस गई। उस दिन के बाद, लोगों ने उस हवेली को और भी ज्यादा डरावना मानना शुरू कर दिया, और कोई भी वहां जाने की हिम्मत नहीं करता था।

निष्कर्ष

तो हमें Bhutiya Kahani से यह चीज मिलती है कि हमें किसी भी बात को मज़ाक में नहीं लेना चाहिए या हमें सावधानीपूर्वक किसी भी कम को उठाना चाहिए।  यह Bhutiya Kahani हमें बताती है कि हमें सोच समझकर किसी कार्य को करना चाहिए जिससे कि हमें बाद मे पछताना न पड़े।

आप लोग नीचे हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके यह जरूर बताइए कि आपको हमारी यह Bhutiya Kahani कैसी लगी। अगर आप लोगों को हमारी Bhutiya Kahani अच्छी एवं पसंद आई हो तोअपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।ऐसे ही Bhutiya Kahani पढ़ने के लिए आप हमारे पेज को फॉलो कर सकते हैं धन्यवाद।

Leave a Comment